भारत में चीन विरोधी माहोल देखकर डरी मायावती , घबराकर बोली …….

ट्रेडिंग

लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव जा रही है और इसी बीच राजनीति भी जोर शोर से चल रही है! लगातार वर्तमान सरकार को कांग्रेस की तरफ से गिरा जा रहा है और अब बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी एक बयान जारी किया है!

मायावती ने ट्विटर पर लिखा है 15 जून को हाल ही में लद्दाख में चीनी सेना के साथ हुए संघर्ष में कर्नल सहित भी सैनिकों की मौत से पूरा देश काफी दुखी, चिंतित है! उन्होंने कहा है कि इसके निदान हेतु सरकार और विपक्ष दोनों को पूरी परिपक्वता व एकजुटता के साथ काम करना है तो देश दुनिया को देखें व प्रभावी सिद्ध को!

पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि ऐसे कठिन एवं चुनौती बड़े समय में भारत सरकार की अगली कार्यवाही के संबंध में लोगों व विशेषज्ञों की राय अलग-अलग होती है, लेकिन सरकार पर यह मूल रूप से छोड़ देना ही बेहतर होगा कि देश हित व सीमा की रक्षा हर हाल में करें जो कि सरकार का दायित्व भी है!

आपकी जानकारी के लिए बता दें मायावती का यह बयान उस समय आया है जब कांग्रेस इस मसले पर सरकार को पूरी तरीके से घेर रही है! पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के मनमोहन सिंह ने भी बीते सोमवार को एक बयान जारी कर सरकार को घेरा था, जिसके बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत पूरी कांग्रेस पार्टी सरकार पर आक्रामक हो गई! तो दूसरी और मनमोहन सिंह के ऊपर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा से लेकर कई केंद्रीय मंत्रियों ने मनमोहन सिंह के बयान को गलत बता दिया!

बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा का कहना है कि यूपी कॉल के दौरान चीनी सैनिकों ने कई बार घुसपैठ की और तब की सरकार ने कुछ नहीं किया! इस राजनीतिक बयानबाजी के बीच भारत और चीन के बॉर्डर पर तनाव तो बरकरार है! लद्दाख में पेंगोंग घाटी के पास सोमवार को एक बार फिर से भारत और चीन की सीमा के बीच बात हो रही है