देश में आज जो भी गरीबी, भुखमरी, समस्या, गन्दगी है सब इन कांग्रेसियों के कारण है : मायावती

ट्रेडिंग

आज बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर एक कडवी बात कह दी, अक्सर बीजेपी के नेता ही इस तरह की बात करते है, कोई भी सेक्युलर दल कांग्रेस को लेकर इस तरह की बात नहीं कहता पर मायावती ने आज ये बात कह दी देश में गरीबी, भुखमरी, गंदगी और हर तरह की समस्या के लिए मायावती ने कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया हैमायावती ने कहा की – आज देश में कई तरह की समस्या है, लॉक डाउन के कारण सबसे ज्यादा गरीब और मजदुर परेशान है और ऐसे लोग जो की गरीबी और बेरोजगारी के कारण दुसरे राज्यों में पलायन कर गए थे मायावती ने कहा की – ये सब कांग्रेसियों के कारण ही हुआ है, कांग्रेस ने ही देश पर 60 साल राज किया है और अगर कांग्रेस ने देश का भला किया होता तो देश में गरीबी और बेरोजगारी ही न होती और न ही किसी को अपने राज्यों से रोजगार के लिए पलायन करना पड़ता Mayawati@Mayawati

1. आज पूरे देश में कोरोना लाॅकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है क्योंकि आजादी के बाद इनके लम्बे शासनकाल के दौरान अगर रोजी-रोटी की सही व्यवस्था गाँव/शहरों में की होती तो इन्हें दूसरे राज्यों में क्यों पलायन करना पड़ता? 1/423.3KTwitter Ads info and privacy9,760 people are talking about this

Mayawati@Mayawati

2. वैसे ही वर्तमान में कांग्रेसी नेता द्वारा लाॅकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने सम्बंधी जो वीडियो दिखाया जा रहा है वह हमदर्दी वाला कम व नाटक ज्यादा लगता है। कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता।2/47,841Twitter Ads info and privacy3,179 people are talking about this
इस से पहले कल मायावती ने कहा था की – कांग्रेस छात्रों और मजदूरों की मदद का नाटक करती है दूसरी तरफ छात्रों के लिए भेजी गयी बसों का बिल मांगती है, कांग्रेस काफी बेशर्म पार्टी है
Mayawati@Mayawati · 

1. राजस्थान की कांग्रेसी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपए और देने की जो माँग की है वह उसकी कंगाली व अमानवीयता को प्रदर्शित करता है। दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखःद। 1/3Mayawati@Mayawati

2. लेकिन कांग्रेसी राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी कुछ बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है तो दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात करके जो राजनीतिक खेल खेल कर रही है यह कितना उचित व कितना मानवीय? 2/39,976Twitter Ads info and privacy2,615 people are talking about thisबता दें की उत्तर प्रदेश सरकार ने कोटा में अपनी बसें भेजी थी, पर बाद में पता चला की छात्रों की संख्या तो कहीं ज्यादा है, ऐसे में छात्र बस अड्डे पर ही न फंसे रहे तो यूपी सरकार ने राजस्थान सरकार से 70 बसों की सहायता ली, बाद में राजस्थान सरकार ने 70 बसों के लिए यूपी सरकार से 36 लाख रुपए मांग लिए, यूपी सरकार ने ये पेमेंट पूरी कर दी, राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है