भाजपा के वरिष्ठ और दिग्गज नेता का निधन, पीएम मोदी और अमित शाह दुःख में डूबे

ट्रेडिंग

अभी हाल ही के दिनों में हमने भारतीय राजनीति में कई ऐसे लोगो को खो दिया है जो वाकई में काफी अधिक मायने रखते थे और जिन्होंने कही न कही पार्टी की जडो को मजबूत किया है. चाहे वो सुषमा जी हो या फिर पर्रीकर साहब हो हर किसी का पार्टी में अपना एक ख़ास महत्त्व था और इसे कोई भी भूल नही सकता है और न ही उनके योगदान को कभी भी कोई भूल सकता है मगर हाल ही में एक और व्यक्ति जिनसे मोदी जी की नजदीकी शुरू से ही काफी अधिक ज्यादा थी वो चले गये है.

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशु भाई पटेल का निधन, नरेंद्र मोदी के माने जाते है गुरु
अभी की जानकारी के अनुसार केशुभाई पटेल की तबीयत सुबह सुबह काफी बिगड़ गयी थी और उनको सांस लेने में दिक्कत आ रही थी जिसके बाद में उनको स्टर्लिंग अस्पताल ले जाया गया. उनको दिल का दौरा पड़ा था और वहाँ पर उनको बचाया नही जा सका जिसके बाद में उनके निधन की खबर को सार्वजनिक किया गया तो कई लोग बहुत ही अधिक दुखी हुए.

केशुभाई पटेल का बीजेपी को मजबूत करने में काफी बड़ा योगदान माना जाता है. खुद नरेंद्र मोदी भी उन्हें अपना गुरु मानते रहे है. केशु भाई पटेल छः बार गुजरात असेम्बली के मेम्बर रहे है और वो गुजरात के मुख्यमंत्री भी रहे है, उनके कुर्सी के हटने के बाद में नरेंद्र मोदी के हाथ में कुर्सी आयी थी. उनका जनम आजादी से भी पहले का 1928 में हुआ था और आजादी के बाद में उन्होंने राजनीति में आने का फैसला किया और बीजेपी के साथ में जुड़े रहे. उनके काम के कारण गुजरात में काफी अच्छा ख़ासा काम हुआ जिसे पीएम मोदी बाद में आगे लेकर के गये.

उनके निधन की खबर सुनकर के पीएम मोदी ने बकायदा एक विडियो सन्देश जारी किया और कहा कि मैं कल्पना नही कर सकता हूँ कि वो अब नही है. उनका चले जाना पिता तुल्य व्यक्ति के चले जाना है, उनके जाने से जो क्षति हुई है वो कभी पूरी नही हो सकती है.