इमरान खान को लगा भारत से डर, बोलेः बहुत मजबूत है इंडिया की…

ट्रेडिंग

इस्लामाबाद: जब दुश्मन आपसे डरे तो अच्छा लगता है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों भारत के ऐसे ही डर से गुजर रहे हैं. जिसे देखकर हर हिंदुस्तानी को अच्छा लगेगा.

कुर्सी छिन जाने का डर
हालांकि उनका असल डर कुर्सी छिन जाने का है. इसके साथ ही उन्हें अपने झूठ की पोल खुल जाने और पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर के हाथों से चले जाने का भय भी है. ये डर इमरान को न तो चैन से सोने देता है और न ही चैन से बैठने देता है.

पाकिस्तान के टूट जाने की फिक्र
इमरान का डरना जरूरी भी है और मजबूरी भी. उन्होंने सब उपाय करके देख लिया. जम्मू कश्मीर में आतंक वाद को बढ़ावा देकर भी देख लिया और जम्मू कश्मीर पर दुनिया भर में दुष्प्रचार करके भी. लेकिन न इमरान के आतंकवादी दोस्त काम आए और न उनका झूठ. उल्टा उन्हें अब पाकिस्तान के टूट जाने का डर सता रहा है. अपने डर को छिपाने के लिए इमरान खान झूठ की खाल ओढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं. जिससे सच छिपा रहे.

हिंदुस्तान हमें तीन टुकड़ों में तोड़ना चाहता है: इमरान खान
अपने इस डर को खुलेआम जाहिर करते हुए इमरान खान कहते हैं कि हिंदुस्तान की तो पॉलिसी है कि पाकिस्तान के तीन टुकड़े हों. उनको पाकिस्तान से डर क्यों है. ये सोचो न, क्यों इज़रायल 30 साल से लगा हुआ है..क्योंकि उनको डर पाकिस्तानी फौज से है. उनको पता है कि पाकिस्तानी फौज दुनिया की ताकतवर फौज है. न्यूक्लियर आर्म्ड फौज है.

हिंदुस्तान और इजराइल ने बनाया गठबंधन
पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल के साथ बातचीत करते हुए इमरान खान ने कहा कि नवाज़ शरीफ इंडियन और इजराइल लॉबी के साथ मिलकर साजिश कर रहा है. उनके साथ पाकिस्तान के सारे दुश्मन मिले हुए हैं. इनमें हिन्दुस्तान सबसे आगे है, इजराइल मिला हुआ है. अमेरिका में इंडिया और इजराइल की लॉबी मिलकर काम करती है.

हुसैन हक्कानी की इंडिया और इजराइल से मिलीभगत
इमरान ने दावा किया कि वे अमेरिका के सिस्टम को अच्छी तरह जानते हैं. वहां पर लॉबी काम करती हैं. इनमें इजराइल और इंडिया की लॉबी बहुत मजबूत है. हुसैन हक्कानी भी इनके साथ मिला हुआ है. इमरान ने कहा कि हिन्दुस्तान में ऐसी सरकार है जो कि सबसे ज्यादा एंटी मुस्लिम है.

अपनी तारीफ न करने पीएम से जताई नाराजगी
इमरान खान ने नाराजगी जताई कि जब नवाज शरीफ पीएम था तो मोदी उसकी (नवाज) तारीफ करता था लेकिन मेरी नहीं करता है क्यों नवाज शरीफ उससे मिल गया है. इमरान ने आरोप लगाया कि नवाज की बीमारी पैसा है. नवाज को पता ही नहीं है कि उसके पास कितना पैसा है. इमरान ने कहा कि हिन्दुस्तान की STATE POLICY है कि पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जाएं. इजराइल भी चाहता है कि पाकिस्तान अंदर से टूट जाए.

पाकिस्तान का कहीं सोवियत संघ जैसा हाल न हो जाए: इमरान
इसे कहते हैं हारे हुए की हताशा. पाकिस्तान की जो फौज 1947 से लेकर 1999 तक चार बार हिंदुस्तान के आगे सरेंडर कर चुकी है. इमरान खान उस फौज का डर भारत को दिखा रहे हैं. इमरान खान कहते हैं कि वे यह चाहते हैं कि जो सोवियत यूनियन में हुआ वो पाकिस्तान में भी हो जाए. पाकिस्तान अंदर से टूट जाए. ये सारी साजिशें करते हैं. शिया सुन्नी को कौन लड़ा रहा है.

मुहर्रम पर शिया मुसलमानों के खिलाफ निकाला गया था जुलूस
बता दें कि इसी साल सितंबर में मुहर्रम से पहले पाकिस्तान में शिया मुसलमानों को सीधी धमकी दी गई. ये भीड़ आतंकी संगठन सिपाह-ए-सहाबा के बुलाने पर आई थी और भीड़ के आते ही शुरू हो गया पाकिस्तान में शिया मुसलमानों के खिलाफ सुन्नी समुदाय के लोगों को भड़काने का खेल. ऐसा खेल जो पाकिस्तान के अलग-अलग शहरों में खेला जाता है.