आरजेडी ने कर दी कांग्रेस वालो की बड़ी घनघोर बेईज्जती

ट्रेडिंग

अभी बिहार चुनाव सर पर आ गये है और जैसे जैसे वोट डालने की तारीखे नजदीक आ रही है वैसे वैसे ज्यादातार लोग है वो कही न कही इस उम्मीद में बैठे है और इन्तजार कर रहे है कि आने वाले वक्त में चीजे पहले की तुलना में बेहतर होगी. मगर जो पार्टी पॉलिटिक्स है वो तो पहले से भी बुरे स्तर पर हो रही है. अब हाल ही की बात ही कर लीजिये. चर्चा चल रही थी कि राजद और कांग्रेस साथ में चुनाव लड़ेंगे लेकिन हाल ही में हुई बेज्जती के बाद शायद ही ऐसा हो.

कांग्रेस को एक चौथाई सीट देने को भी राजी नही राजद, दिया सिर्फ 58 से 60 सीट का ऑफर
अभी की मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजद ने कांग्रेस से कहा है कि अगर मिलकर के चुनाव लड़ना है तो हम आपको सिर्फ 60 के अन्दर की सीट्स देंगे जबकि बाकी पर हम खुद ही और हमारे सहयोगी चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय स्तर की रही हुई पार्टी को लालू की पार्टी अब आधा तो क्या एक चौथाई हिस्सा देने को भी राजी नही हो रही है.

ऐसे में कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमिटी बिना कोई ख़ास जवाब दिये अपने प्रत्याशियों के नाम लेकर के दिल्ली लौट गयी है. अब जिस तरह से राजद ने ऑफर के रूप में कांग्रेस पार्टी कीई बेइज्जती की है और उनको एक तरह से छोटा सा टुकड़ा देने की पेशकश की है जिसमे बराबरी की तो कोई बात ही नही है उससे आहत होकर के संभव है कि कोंग्रेस पार्टी राज्य की सारी 243 सीट्स पर अपने दम पर ही चुनाव लड़े और अपने खुदके सारे प्रत्याशी उतारे.

कांग्रेस के साथ में यूपी चुनाव के वक्त भी सपा और बसपा ने ऐसा ही कुछ किया था और अब राजद भी कांग्रेस के साथ ऐसा ही कुछ कर रही है. यहाँ पर ऐसा लगते हुए महसूस होता है कि क्षेत्रीय पार्टियों ने अपनी पकड़ कम से कम कांग्रेस से तो ज्यादा ही महसूस की है.