किस पर करें भरोसा : बैंगलोर का डॉक्टर निकला ISIS का आतंकवादी

ट्रेडिंग

आखिर किस पर करें भरोसा, कभी जनता के द्वारा चुना ताहिर हुसैन आतंकवादी बन जाता हैं, हथियार इक्कठे करके हत्याओं की प्लानिंग करता हैं, कभी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले लड़के बम ब्लास्ट की तैयारी करते हैं , अब बैंगलोर में एक डॉक्टर पकड़ा गया हैं जो ISIS का आतंकवादी निकल और यहां तक कि ISIS के सीरिया के अड्डो में ट्रेनिंग लेकर आया हैं।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) ने इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत (ISKP) केस में बेंगलुरु से एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। इस शख्स का नाम अब्दुल रहमान बताया गया है। यह पेशे से नेत्र रोग विशेषज्ञ बताया जा रहा है। एनआईए के अनुसार यह डॉक्टर सीरिया जाकर आईएसआईएस आतंकियों का इलाज भी कर चुका है। 28 वर्षीय अब्दुल रहमान बेंगलुरू के रमैया मेडिकल कॉलेज में नेत्र रोग विशेषज्ञ के रूप में काम कर रहा था।

 आईएसकेपी से जुड़ा यह मामलादिल्ली पुुुलिस की स्पेशल सेल द्वारा मार्च, 2020 में कश्मीरी दंपति की गिरफ्तारी के बाद दर्ज किया गया था।

दिल्ली के जामिया नगर के ओखला विहार से जहानज़ीब सामी वानी और उनकी पत्नी हिना बशीर बेघ को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस दंपति को ISKP से संबद्ध पाया गया था। यह एक प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन है और ISIS का एक हिस्सा है और इसे विध्वंसक और राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में शामिल पाया गया है। ये कश्मीरी दम्पत्ति अब्दुल्ला बसिथ के संपर्क में भी आई थी, जो पहले से ही एक और एनआईए मामले (आईएसआईएस अबू दबी मॉड्यूल) में तिहाड़ जेल में बंद थे।

पूछताछ के दौरान, गिरफ्तार आरोपी अब्दुर रहमान ने कबूल किया कि वह आरोपी जहानजीब सामी और अन्य सीरिया स्थित आईएसआईएस गुर्गों के साथ आईएसआईएस गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए सुरक्षित मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर साजिश रच रहा था। वह संघर्ष-क्षेत्रों में घायल आईएसआईएस कैडरों की मदद के लिए एक चिकित्सा प्रक्रिया विकसित करने और आईएसआईएस लड़ाकों के लिए एक हथियार से संबंधित आवेदन करने की प्रक्रिया में था।