“हमारे देश में घुस आई है भारतीय सेना, हमारी जमीन पर कब्ज़ा कर लिया, वापस जाओ” : चीन

ट्रेडिंग

भारत ने चीन को उसकी की भाषा में पहली बार जवाब दिया है, भारतीय सेना ने आज सुबह जानकारी दी की 30 अगस्त की रात को पांगोंग त्सो लेक के साउथर्न इलाके में भारत और चीनी सेना के बीच युद्ध हुआ है, और भारतीय सेना ने चीनी सेना को मुहतोड़ जवाब दिया है
भारतीय सेना ने इसके अलावा और कुछ नहीं कहा, पर दूसरी तरफ से जो खबरें सामने आ रही है वो कुछ अलग ही है
खुद चीन कह रहा है की – भारतीय सेना चीन के अन्दर घुस आई है और भारतीय सेना ने चीन के कई पोस्ट्स पर कब्जा भी कर लिया है
चीन ने भारत से प्रार्थना की है की भारत अपनी सेना को वापस बुला ले, चीन ने ‘प्रार्थना’ शब्द का भी इस्तेमाल किया
देखिये, किस प्रकार चीन गिदगिड़ा रहा है
https://platform.twitter.com/embed/index.html?creatorScreenName=username&dnt=false&embedId=twitter-widget-0&frame=false&hideCard=false&hideThread=false&id=1300423742082875394&lang=en&origin=https%3A%2F%2Fwww.dailynv.com%2F2020%2F08%2Fblog-post_72.html&siteScreenName=username&theme=light&widgetsVersion=223fc1c4%3A1596143124634&width=550pxhttps://platform.twitter.com/embed/index.html?creatorScreenName=username&dnt=false&embedId=twitter-widget-1&frame=false&hideCard=false&hideThread=false&id=1300426396490178561&lang=en&origin=https%3A%2F%2Fwww.dailynv.com%2F2020%2F08%2Fblog-post_72.html&siteScreenName=username&theme=light&widgetsVersion=223fc1c4%3A1596143124634&width=550pxसोशल मीडिया पर कुछ मिलिट्री हैंडल्स कह रहे है की, मई के महीने में जो चीन ने भारत के साथ किया था वहीँ भारत ने अगस्त के महीने में चीन के साथ किया है 

https://platform.twitter.com/embed/index.html?creatorScreenName=username&dnt=false&embedId=twitter-widget-2&frame=false&hideCard=false&hideThread=false&id=1300347614999662593&lang=en&origin=https%3A%2F%2Fwww.dailynv.com%2F2020%2F08%2Fblog-post_72.html&siteScreenName=username&theme=light&widgetsVersion=223fc1c4%3A1596143124634&width=550pxये भी कहा जा रहा है की चीन के 30 के करीब सैनिक भारतीय सेना के कब्जे में है और भारतीय सेना ने चीन के कुछ पोस्ट्स पर कब्ज़ा भी किया है 
इतिहास में पहली बार चीन भारतीय सेना को वापस जाने को कह रहा है और ‘प्रार्थना’ शब्द का भी इस्तेमाल कर रहा है