BREAKING NEWS : 1000 करोड़ का इनकम टैक्स छापा भोपाल में

ट्रेडिंग
भोपाल. रियल एस्टेट कारोबारी फेथ बिल्डर्स से मालिक राघवेंद्र सिंह के भोपाल और इंदौर स्थित कई ठिकानों पर इनकम टैक्स छापेमारी कर रहा है। यह कार्रवाई गुरुवार सुबह से ही दिल्ली से पहुंची 150 सदस्यीय टीम कर रही है। बताया जाता है कि इस दौरान आयकर की जांच में 100 करोड़ कैश और 100 से अधिक प्रॉपर्टी मिली है। बताया जाता जा रहा है कि बेनामी संपत्तियों की सूची में राघवेंद्र सिंह के साथ अन्य व्यापारियों के नाम भी सामने आ रहे हैं। हालांकि आयकर विभाग की तरफ से इस संबंध में कोई खुलासा नहीं किया गया है।
आयकर विभाग की इस छापेमारी में बिल्डर के ऑफिस से लेकर क्रिकेट क्लब, होटल, रेस्टोरेंट, डेयरी, पैकर्स, एग्रो समेत अन्य संस्थाओं के ऑफिस में जांच चल रही है। इसके अलावा फेथ ग्रुप के मालिक राघवेंद्र सिंह ने भोपाल के रातीबड़ इलाके में अपने बेटे के लिए बनावए फेथ क्रिकेट स्टेडियम भी जांच के दायरे में आ गया है। यह स्टेडियम एक साल पहले ही  बनकर तैयार हुआ है। इसमें एमपीसीए के टूर्नामेंट मिलने लगे। बता दें कि इस स्टेडियम का उद्घाटन करने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी जहीर खान और सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर आए थे। जहां उन्होंने यहां पर एक क्रिकेट मैच भी खेला था।
आयकर विभाग फेथ ग्रुप के मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर की 100 से अधिक बेनामी प्रॉपर्टी का वेल्युएशन कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक, इस कार्रवाई में करीब 1000 करोड़ की बेनामी संपत्ति मिलने की संभावना जताई जा रही है।
बता दें कि फेथ बिल्डर के मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर मूल रूप से मुरैना जिले के छेरिया गांव के रहने वाले हैं। उनके पिता परमाल सिंह तोमर आईपीएस थे। राघवेंद्र सिंह ने ग्वालियर और इंदौर में पढ़ाई करने के बाद कैरियर की शुरुआत एक कांट्रैक्टर से की थी। फिर पिता के आईएएस, आईपीएस दोस्तों की दम पर अपना बिजनेस बढ़ाया, देखते ही देखते वह बड़े बिल्डर बन गए।
इसी बीच उनकी दोस्ती मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया से दोस्ती हो गई। फिर वह ऊंची पहुंच और रसूख के बल पर धीरे-धीरे अरबों की संपत्ति के मालिक बन गए।  तोमर के भोपाल और इंदौर में कई बंगले हैं और उनके पास कई  लग्जरी गाड़ियां भी हैं। वह वीआईपी पार्टियों के शौकीन हैं, इतना ही नहीं उनको महंगे और ब्रॉड वाले कपड़े पहना पसंद है। उनकी फेसबुक पेज पर तस्वीरों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि राघवेंद्र सिंह अपनी स्टाइल और लुक का कितना ध्यान रखते हैं।
बता दें कि फेथ ग्रुप के प्रमोटर और मालिक राघवेंद्र सिंह तोमर और मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया के बीच दोस्ती है। फेसबुक पेज पर दोनों की कई तस्वीरें हैं। मंत्री अरविंद भदौरिया ने राघवेंद्र को अपना छोटा भाई बताते हैं। अरविंद भदौरिया कोरोना से स्वस्थ होने के बाद होम आइसोलेशन के लिए राघवेंद्र सिंह तोमर के घर ही गए थे।