राम मंदिर भूमिपूजन में मुझे नहीं बुलाया गया तो भगवान राम की तरह सरयू में जल समाधि ले लूँगा: आजम खान

ट्रेडिंग

मुस्लिम कारसेवक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आजम खान ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मौके पर एक अनोखी माँग रखी है। उन्होंने कहा कि यदि 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में उनको आमंत्रित नही किया गया तो वह उसी दिन सरयू में जल समाधि ले लेंगे।

आजम खान ने शनिवार (25 जुलाई, 2020) को अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि परिसर में विराजमान रामलला का दर्शन के दौरान यह शपथ लिया है। उन्होंने कहा कि हमने भी राम मंदिर के लिए आंदोलन किया है और हम भी भगवान राम को मानने वाले हैं। हम भी राम भक्त हैं। आजम खान ने कहा कि राम को किसी जाति या धर्म में नहीं बाँधा जा सकता। उन्होंने कहा कि वो इस दिन वहाँ उपस्थित होकर इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी बनना चाहते हैं।

आजम खान ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए उन्होंने आंदोलन किया है, वह भगवान राम को मानने वाले हैं। वे भी भगवान राम के भक्त हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिम कारसेवक मंच ने राम मंदिर आंदोलन के लिए जागरूकता अभियान चलाया है। मंच ने ईट सहित विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों को कर मुस्लिम समुदाय को भी पक्ष में लाने का काम किया था। अब जब राम जन्मभूमि मंदिर बनने जा रहा है तो उन्हें भी आमंत्रित किया जाना चाहिए।

वहीं उन्होंने राम और लक्ष्मण का उदाहरण देते हुए कहा, जिस तरह भगवान राम और लक्ष्मण ने सरयू में जाकर जल समाधि ली थी, उसी तरह मैं भी सरयू में जल समाधि ले लूँगा। इसके अलावा उन्होंने राम मंदिर आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका वाले संत स्वर्गीय महंत रामचंद्र दास परमहंस की समाधि पर श्रद्धांजलि भी दी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर भूमिपूजन की तैयारियों की समीक्षा करने आज (25 जुलाई 2020) अयोध्या पहुँचे। उन्होंने हनुमानगढ़ी में हनुमान जी के दर्शन किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के लोगों के साथ बैठक कर मंदिर-निर्माण की तैयारियों का जायजा लिया।

सीएम योगी ने साधु-संतों के साथ हुई बैठक के दौरान बताया कि 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति वाले भूमिपूजन कार्यक्रम में सिर्फ 200 अतिथि ही शामिल हो सकते हैं, इसीलिए अगर किसी को निमंत्रण न मिले तो इसे प्रतिष्ठा का विषय न बनाया जाए। सीएम योगी ने कारसेवकपुरम में पत्थरों की तराशी का भी जायजा लिया। पूरे अयोध्या के लोग 5 अगस्त को दीप प्रज्ज्वलित कर इस मौके पर ख़ुशी मनाएँगे।