भारत- चीन तनाव के बीच भारत और रूस के बीच हुई बड़ी डील, अब और बढ़ेगी…

ट्रेडिंग

भारत-चीन तनाव के बीच देश की वायु शक्ति बढ़ाने के लिए रक्षा मंत्रालय अब रूस से 33 नए फाइटर प्लेन और 12 सुखोई 30MKI फाइटर जेट खरीदने जा रहा है। इसके साथ ही वायुसेना और नेवी के लिए 248 एयर टाइम एयर मिसाइल खरीदने की मंजूरी दी गई है। वहीं, वायुसेना के पास पहले से मौजूद 59 मिग-29 को अपग्रेड किया जाएगा। इसके साथ ही रक्षा मंत्रालय ने 1000 किमी तक मारक क्षमता वाला डीआरडीओ के लैंड अटेक क्रूज मिसाइल को खरीदने की मंजूरी दी है। ये सभी हथियार 18,148 करोड़ की लागत से खरीदें जाएंगे।

वहीं, दोनो देशों के रक्षा सौदों क बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ फोन पर बात की और उन्हें द्वितीय विश्व युद्ध में जीत की 75वीं वर्षगांठ के समारोह की सफलता और रूस में संवैधानिक संशोधनों के लिए हुए सफल मतदान के समापन पर बधाई दी। रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भी फोन कॉल के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया और सभी क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच सामरिक साझेदारी को और मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराई। 

बता दें कि पिछले दिनों से पूर्व लद्दाख के गलवन घाटी में भारत और चीन के बीच खूनी झड़प के बाद भारत लगातार अपनी सैन्य ताकतों में इजाफा करता जा रहा है। हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिवसीय रूस के दौरे में गए थे। वही, जल्द ही भारत को रूस से राफेल जैसा शक्तिशाली फाइटर विमान भी मिलने वाला है।