भारतीय सैनिकों के काफिले को देख तिब्बती लोगों में ख़ुशी की लहर, झंडे लहरा कर किया स्वागत

ट्रेडिंग

भारत और चीन के बीच बढे तनाव के दौरान पूरी दुनिया भारत की तरफ उम्मीद भरी नज़रों से देख रही है. गलवान में मुठभेड़ के बाद भारत ने चीन के खिलाफ जिस तरह की आक्रामकता दिखाई, एप्स बैन किये, चीनी कंपनियों से प्रोजेक्ट्स छीने गए और LAC पर सेना और वायुसेना ने को दम दिखाया उससे दुनिया को उम्मीद जगी है कि एशिया मे चीन की विस्तारवादी निग्तियों को कोई काबू कर सकता है तो भारत ही है. बाते दो महीनों में भारत दुनिया के लिए मोस्ट फेवर्ड नेशन बन कर उभरा है. चीन से परेशान देश भारत और भारतीय सैनिकों के लिए सम्मान प्रदर्शित कर रहे हैं. इसका नज़ारा देखने को मिला हिमाचल प्रदेश के मनाली में.

चीन की गुलामी झेल रहे तिब्बत के लोगों ने मनाली से गुजरते भारतीय सेना के काफिले का गर्मजोशी से स्वागत किया. तिब्बती लोगों ने सड़क के दोनों किनारे तिब्बती झंडे लहराकर और हाथ हिलाकर भारतीय सेना का स्वागत किया और उनका हौसला बढाया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

तिब्बत के लोग कई दशकों से अपनी स्वतंत्र अस्तित्व और सांस्कृतिक पहचान के लिए लड़ रहे हैं. चीन के जुल्मों से तंग आ कर कई तिब्बती भारत के हिमाचल और उत्तराखंड में आ कर बस गए. चीन ने न सिर्फ तिब्बत पर कब्ज़ा किया बल्कि उसकी सांस्कृतिक पहचान को ही नष्ट कर दिया. आज भी तिब्बत के लोग भारत की तरफ उम्मीद भरी नज़रों से देख रहे हैं और इस उम्मीद में जी रहे हैं कि किसी दिन तिब्बत चीन के चंगुल से आज़ाद होगा.